Why do Indian YouTubers get paid less than American YouTubers?

  • Reading time:2 mins read
  • Post category:YouTube

अगर आप एक YouTuber है या YouTube देखते है तो आपके मन में कभी ना कभी ये सवाल तो आया ही होगा की आखिर इंडियन YouTuber कमाते कितना है। इसी सवाल का जवाब पाने के लिए आपने गूगल पर अपने favorite YouTuber का नाम सर्च किया होगा। 

आपने उनकी कमाई देखी होगी और सोचा होगा की वाह यार कितना कमाते है ये लोग। लेकिन सच्चाई कुछ और है, असल में indian YouTubers इतना नहीं कमाते जितना की American YouTubers कमाते है। तो आज हम इसी के बारे में जानने वाले है की आखिर क्यों america YouTubers indian YouTubers से ज्यादा कमाते है?

America YouTubers को Indian YouTubers से ज्यादा पैसे क्यों मिलते है?

America YouTubers indian YouTubers से ज्यादा कमाते है इसके काफी सारे रीज़न है लेकिन हम 3 के बारे में बात करने वाले है जो की main है। 

CPM 

पहला और सबसे important रीज़न है CPM जिसका फुल फॉर्म होता है cost per mile और इस टर्म को मेज़रमेंट के लिए इस्तेमाल किया जाता है। CPM मतलब एक cost होती है जो advertiser pay करते है अपनी ads को प्रमोट करने के लिए। ये cost advertiser 1000 impression या 1000 views के लिए देते है। 

यही cost इंडिया में बोहोत ही ज्यादा कम होती है। मतलब अगर US में किसी YouTuber को 1000 views मिलते है तो वो आसानी से $4 से $7 कमा लेगा। लेकिन india में अगर किसी YouTuber को 1000 views मिलते है तो उसे मुश्किल से $1 मिलेगा और वो भी अगर Tech चैनल हुआ तो। बाकि categories के channel को तो $0.30 से $0.50 ही मिलते है। 

एक एवरेज देखे तो अगर किसी इंडियन YouTuber को $50 कमाने है तो उसे 50K views चाहिए होंगे। लेकिन अगर किसी अमेरिकन YouTuber को 50K views मिलते है तो वो आसानी से $250 से $300 कमा लेगा। इसलिए इंडियन YouTubers को भले ही million में views आते हो लेकिन वो काफी कम कमाते है। 

Brands 

आपने सुना ही होगा की ज्यादा तर indian YouTuber AdSense के जरिए नहीं बल्कि Brands के जरिए कमाते है। बोहोत सारे YouTubers ब्रांड्स पर ही निर्भर करते है income करने के लिए। 

शायद आपको पता नहीं तो आपको बता दे की काफी सारे YouTuber apps या सर्विस को प्रमोट करते है क्योकि यही apps उन्हें काफी ज्यादा पैसा देते है। इंडिया के Top YouTuber भी ऐसी apps को प्रमोट करते है। अगर किसी YouTuber के 20 million subscriber है तो वो 30 second के प्रमोशन के लिए लगभग 10 से 15 लाख रूपए लेता है। 

आपको ये amount सुन कर काफी हैरानी हो रही होगी लेकिन हम आपको बता देते है की ये amount बोहोत कम है। कैसे? बाहर के brands 50K subscriber वालो को 50,000 रूपए आसानी से दे देते है। लेकिन इंडिया में brands 50K subscriber वालों को 10,000 भी काफी मुश्किल से देते है। 

काफी ऐसे YouTubers भी है जिन्हे brand value के बारे में ज्यादा जानकारी ही नहीं है। इंडिया में कुछ channels ऐसे भी हैं जिनके subscribers million में है लेकिन वो 5000 या 6000 लेकर brands को प्रमोट करते है। 

Extra Income and Donation

अगर Brands के बाद YouTuber सबसे ज्यादा जिससे कमाते है तो वो merchandise, superchat, donation है। Crowd Funding का concept अमेरिका में बोहोत ज्यादा काम करता है। अमेरिका में casual views से ज्यादा dedicated fans है creators के। 

वहां के ऑडियंस काफी connected होते है creators से। अगर कोई बांदा किसी advance काम के लिए funds की मांग करता है तो audience भी तैयार रहती ही उसकी मदद करने के लिए उसे डोनेट करने के लिए।

अमेरिका के YouTubers full time की तरह नहीं लेते ही है YouTube वो अपना बिज़नेस भी चला रहे होते है। ज्यादा तर अमेरिकन YouTubers के पास अलग-अलग रास्ते होते income करने के। वहां काफी live events भी होते है creators के बिच में जैसे boxing match between logan paul and KSI और वो इसी से करोडो में कमाते है।  

इंडिया में ये सब होना अभी तो मुमकिन नहीं है क्योकि YouTube अभी-अभी इंडिया में शुरू ही हुआ है। हम हमेशा भूल जाते है की अमेरिका में YouTube काफी पहले शुरू हो चूका था और उन्होंने भी हम जैसे दिनों को झेला है। 

बाकि देखा जाए तो अमेरिका में रोजमर्रा के खर्चे भी काफी ज्यादा है तो ऐसे में ads के rate भी रिज़नेबल ही है।