Schema Data क्या होता है? in Hindi

  • Post author:
  • Post last modified:October 1, 2021

आप सभी मैगी के बारे में जानते होंगे? मैगी इंसटैंटली पकने वाले नूडल्स का सिर्फ एक टाइप है. मैगी अपने आप में कोई डिश नहीं होती है. लेकिन यह इंस्टेंट नूडल्स का सबसे पॉपुलर ब्रांड है. यही हाल Schema Data का है, यह यह Structured Data का एक टाइप है. यह ऐसा फॉर्मेट है जिसे गूगल प्रेफर करता है, इसलिए इसके बारे में ज्यादा बातें होती है.

Schema Data Structured Data का सिर्फ एक टाइप है, यह आपने आपने कोई यूनिक चीज नहीं है. साथ ही हमेशा ध्यान रखिए कि Schema Data अपने आप में रैंकिंग फैक्टर नहीं है. अगर आप किसी पेज में 10 तरीके का या 12 तरीके का Schema Data जोड़ते हैं तो यह रैंकिंग फैक्टर नहीं होगा बिल्कुल भी. अगर आपसे कोई ये कहता है तो उसे दुबारा पढ़ने की जरुरत है। 

Schema Data कितना यूज करना चाहिए?

मान लीजिए कि आपकी वेबसाइट है example.com और इस वेबसाइट का एक पेज है page1. तो इस पेज का URL होगा example.com/page1.

इस पेज में किसी भी प्रोडक्ट के बारे में बात की गई है. उस प्रोडक्ट को बनाने वाले की जानकारी भी है और उस प्रोडक्ट की कुछ Images है, Videos है, Reviews है और उस प्रोडक्ट के बारे में पूछे गए कुछ सवाल(FAQ) भी है. 

Read also:-

Semantic SEO क्या है?

क्या 2021 में Expired Domains इस्तेमाल करना सही है?

ब्लॉग पोस्ट में कितने Words होने चाहिए? in Hindi

इस पेज में Schema Data जोड़ना हो तो आप किस टाइप का Schema Data जोड़ेंगे?

इस एक पेज में आप website, product, review, image, person, video और FAQ टाइप का Schema Data जोड़ सकते हैं.

इतने सारे टाइप का Schema Data आप किसलिए जोड़ सकते हैं? क्योंकि इतने सारे टाइप का कंटेंट इस पेज पर visible है.

किसी भी वेब पेज में जो भी कंटेंट normal human visitor को दिखाई देता है, उसके लिए आप Schema Data इस्तेमाल कर सकते हैं. यह कंटेंट देखने के लिए ना तो यूजर को कोई अकाउंट बनाने की जरूरत हो और ना ही किसी तरह का पेमेंट करने की जरूरत हो. किसी एक पेज में आप एक से ज्यादा तरह का Schema Data यूज कर सकते हैं. अगर उसका कंटेंट उस पेज पर visible है.

Schema Data पेज में कहां जोड़ा जाना चाहिए?

इसका जवाब बड़ा आसान है. जब भी Schema Data को बनाते हैं तो वह बनता है JSON-LD फॉर्मेट में और यह फॉर्मेट human visitors के लिए नहीं होता है सिर्फ सर्च इंजन के लिए होता है.

तो आप इसे पेज में header पर भी डाल सकते हैं, footer में भी डाल सकते हैं, पेज के बीच में डाल सकते, कोई फर्क नहीं पड़ता है. बस इसे सही पेज पर होना जरूरी होता है. किस place पर है या किस जगह पर है इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है.

Schema Data को पेज में कैसे जोड़ना चाहिए?

यह सवाल थोड़ा मुश्किल है क्योंकि वेबसाइट सिर्फ एक तरीके की नहीं होती है. वेबसाइट बनाने के सैकड़ो प्लेटफॉर्म है और सबके अलग-अलग editing format होते हैं. Custom coding वेबसाइट में चाहे वह ब्लॉग हो चाहे वह किसी तरह की वेबसाइट हो, आप जो भी Schema Data जिस भी पेज में जोड़ना चाहते हैं जिस भी जगह पर जोड़ना चाहते है आप जोड़ सकते है.

WordPress में भी काफी सारे plugins है जो Schema Data को जोड़ने की facility देते हैं. लेकिन सबकी एक common problem है, की उनकी format में कोई न कोई issue होता है. हर plugin custom Schema Data को जोड़ने के लिए paid version की डिमांड करता है.

लेकिन किसी भी WordPress वेबसाइट में किसी भी Schema Data को बिना किसी plugin के जोड़ना बड़ा आसान है. सिर्फ एक छोटा सा जुगाड़ करना होता है. उस जुगाड़ को हम step by step देखते है.  

How to add schema code in WordPress websites? 

Step 1. Click on appearance

Step 2. Click on theme editor

Step 3. Find out Header.php

Step 4. Click on Header.php

यह बदलाव करने से पहले एक बात बता दे की अगर आप अपनी वेबसाइट का बैकअप नहीं लेते है तो कोई भी बदलाव करने से पहले अपनी वेबसाइट का बैकअप जरूर ले. यह बदलाव करते वक़्त 99% कोई परेशानी नहीं आती लेकिन अगर गलती से कुछ और ही delete हो गया तो आप उस फाइल को दोबारा से अपलोड कर सके और साइट को पहले जैसा कर सके.

Step 5. Paste the code here

schema data

Step 6. Click on update file button

हमने function को वेबसाइट पर जोड़ दिया है अब बारी है अपने किसी भी वेब पेज में जा कर data को जोड़ने की.

How to add schema data code in web pages?

Step 1. Click on pages

Step 2. Click on edit button of any page.

Step 3. Click on three dots.

Step 4. Scroll to bottom and click on preferences

Step 5. Click on panels.

Step 6. Enable the custom field if not enabled

schema data

Step 7. Click enable & reload button

Step 8. Then scroll down page and past the code in value field and give it name as schema

schema data

जितने भी टाइप का Schema Data आपको जोडना है आप इसी field में जोड़ सकते है one by one.  

Step 9. Click on ad custom field

Step 10. Update the post

इस तरह आप बिना किसी plguin के Schema Data को अपने वेबसाइट में जोड़ सकते है। 

Schema data code:-

Keyword Density क्या है और क्या यह Blogging में जरूरी है?

Free Blog vs Paid Blog कौनसा बेस्ट है?

Blogger vs WordPress 2021 में कौनसा बेहरत रहेगा?

Enjoyed the post! Leave a Reply...

This Post Has One Comment

  1. Jyoti

    Very good information 👍. Keep it up