Mod App or Apk क्या होता है? क्या हमें इसे इस्तेमाल करना चाहिए?

  • Post author:
  • Post last modified:June 6, 2022

दोस्तों mod app या apk नाम का शब्द आपने काफी बार सुना होगा और काफी ऐसी application के बारे में भी सुना होगा जो की mod होती है। जैसे की PicsArt mod app, Kinemaster mod app या कोई भी फेमस गेम हो सकती है उसकी mod app के बारे में आपने काफी सुना होगा।

आज हम आपको बताने वाले है की mod app क्या होता है? क्या हमें इसे इस्तेमाल करना चाहिए? या mod apk हमारे लिए safe है या नहीं? इन सभी सवालो के जवाब आज हम आपको देने वाले है। 

कोई भी application हो चाहे वो facebook हो, kinemaster हो चाहे कोई भी हो app हो, उनको जब हम डाउनलोड करते है तो उनकी एक apk file सेव होती है हमारे डिवाइस में। किसी भी app को बनाने वाले डेवलपर या कंपनी अपने app में कुछ फीचर्स ऐसे देती है जो की प्रीमियम होते है जिनके लिए हमें पैसे देने होते है। 

कुछ डेवलपर होते है जो की developing में माहिर होते है जिनको apps को develop करना आता है। इनको सभी चीजों की बारीकी से जानकारी होती है, वो किसी भी application को modify कर सकते है। 

Mod App or Apk kya hai?

Mod app का मतलब modified app या modded app होता है। यह mod apk original apk के modified version होते है। जो application इस्तेमाल करने में मुश्किल होते है या जिनमे फीचर या तो paid होते है या फिर काफी कम होते है, ऐसे app को यह डेवलपर mod कर देते है यानि modify कर देते है। जो इस्तेमाल करने में मुश्किल होते है उन्हें आसान बना देते है और जो paid होते है उन्हें free में प्रोवाइड करते है। 

जैसे आपने देखा होगा की कुछ apps होते है जैसे की PicsArt, इन application के जो advance version होते है वो सब paid होते है जिन्हे हमें पैसे दे कर खरीदना होता है। अब इन applications को सभी तो खरीद नहीं सकते और अगर हम इन्हे प्ले स्टोर से डाउनलोड करते है तो इनके प्रीमियम फीचर्स हमें फ्री में नहीं मिलते। 

ऐसे में कुछ डेवलपर होते है जो इन एप्लीकेशन में changes कर देते है उन्हें modify कर देते है। और इनमे जो लॉक होता है जिससे premium फीचर्स ऑन हो जाते है उसको वो डेवलपर तोड़ देते है। अब वो नॉर्मल लोग भी उन प्रीमियम फीचर्स को इस्तेमाल कर पाते है और वो भी बिना कुछ पे किए। 

सिर्फ प्रीमियम फीचर ही नहीं बल्कि जैसा की हमने ऊपर भी बताया की जो एप्लीकेशन इस्तेमाल करने में आसान नहीं है उन्हें भी वो आसान बना देते है। जो एप्लीकेशन काफी कम फीचर्स के साथ आते है उनमें extra फीचर्स को add कर देते है।

आपने देखा होगा की आप जब whatsapp के बारे में या instagram के बारे में प्ले स्टोर में सर्च करते है तो आपको दूसरी भी सिमिलर app देखने को मिलती है। यह सभी modified app ही तो होती है। जिनको किसी डेवलपर ने modify कर उनमें कुछ extra फीचर्स को add किया होता है। 

क्या Mod app को इस्तेमाल करना illegal होता है?

देखिए दोस्तों इसका आसान सा जवाब है, जब भी कोई कंपनी कोई चीज या प्रोडक्ट बनती है तो उसके ऊपर उस कंपनी का कॉपीराइट होता है। अगर हम इस पोस्ट को बना रहे है तो इसके ऊपर हमारा कॉपीराइट है। अगर मेरी किसी चीज को कोई इस्तेमाल करता है बिना परमिशन के तो वो illegal होता है। मै उस व्यक्ति के खिलाफ लीगल एक्शन ले भी सकता हूँ।

कंपनियां भी लीगल एक्शन ले सकती है लेकिन वह यूजर के ऊपर कोई एक्शन नहीं लेती है। क्योंकि यूजर तो लाखो करोडो होते है, ऐसे में इतने सारे लोगो के ऊपर लीगल एक्शन नहीं लिया जा सकता।

हलाकि कंपनियां आपकों ट्रेस कर सकती है और जिस वेबसाइट से आपने उस app को डाउनलोड किया है वह पर आपका ip address और कुछ दूसरी details भी सेव हो जाती है। वो चाहे तो लीगल एक्शन ले भी सकते है लेकिन possible नहीं है इतने सारे लोगो पर एक्शन लेना। 

कंपनियां उन डेवेलपर्स के ऊपर एक्शन लेती है जिन्होंने इन एप्लीकेशन को बनाया है modify किया है। उस वेबसाइट के ऊपर लीगल एक्शन ले सकती है जो ऐसी apps को अपनी साइट पर रखती है। तो हां, mod apps illegal है लेकिन users के लिए नहीं है सिर्फ उनके लिए है जो इनको बनाते है या इनको अपनी sites पर बेचते है अपने फायदे के लिए। 

क्या Mod app को इस्तेमाल करना safe होता है?

देखिए दोस्तों सेफ्टी की बात जहा तक आती है mod apps बिलकुल भी सेफ नहीं होते है। क्योंकि आप किसे पकड़ोगे अगर कल को कुछ हो भी जाता है तो। वो तो ऐसा ही होगा न की आप इस्तेमाल कर रहे हों चोरी का फ़ोन और अगर उससे आपका कोई नुकसान होता है तो वो पूरी आपकी जिम्मेदारी होगी।

पहली बात तो किसी दूसरे की चीज को किसी तीसरे ने modify किया है और कोई चौथा है जो इसे बेच रहा है अपने फायदे के लिए और आप उसे इस्तेमाल कर रहे हो। जरा आप ही सोचो की क्या यह सेफ है या नहीं है। 

अगर आप कोई ब्लॉगर हो या कोई यूटूबेर हो, अगर आप ऐसी apps के बारे में अपने आर्टिकल या अपने वीडियो में कुछ बताते है तो आपको नुकसान झेलना पड़ सकता है। आपको कॉपीराइट भी मिल सकता है और आपके खिलाफ कोई एक्शन भी ली जा सकती है। 

वही अगर आप किसी app को प्ले स्टोर से डाउनलोड करते है तो वो पूरी तरह सेफ होती है। गूगल पहले चेक करता है की क्या यह एप्लीकेशन सेफ भी है या नहीं। अगर कोई एप्लीकेशन सेफ नहीं होती तो गूगल उसे अपने प्ले स्टोर पर approve ही नहीं करता। काफी सारे criterias होते है जिनको पास करने के बाद ही कोई एप्लीकेशन प्ले स्टोर में आती है। 

Bottom Line

एक बात और हम आपको बताना चाहेंगे की चाहे कोई भी कंपनी हो या कोई डेवलपर वो अपने किसी फायदे के लिए ही इन apps को modify करता है या बनता है। उसके अंदर उसका कोई न कोई फायदा जरूर छुपा होता है। कोई भी भला क्यों काम करेगा जब उसे उससे कुछ मिल ही नहीं रहा हो तो। 

सही गलत बताना हमारा काम है, उसे इस्तेमाल करना है या नहीं यह आपकी जिम्मेदारी है!

Enjoyed the post! Leave a Reply...