Subdomain क्या है और Subdomain कैसे create करते है?

  • Post author:
  • Post last modified:June 22, 2021

दोस्तों आपने Subdomain के बारे में आपने काफी बार पढ़ा होगा या सुना होगा। लेकिन कभी न कभी आपके मन में ये सवाल तो आया ही होगा की subdomain आखिर क्या होता है? इसका इस्तेमाल क्या होता है और इसके फायदे क्या होते है? इन सभी सवालों के जवाब आज आपको हम देने वाले है।

Subdomain हमारे main domain का ही एक हिस्सा होता है। आप अपने एक main domain की मदद से multiple Subdomains को create कर सकते है। Subdomain आपको एक ही domain के अंदर multiple स्वतंत्र websites बनाने की आजादी देते है।

आप इनकी मदद से बिना कोई नया डोमेन ख़रीदे एक ही domain के अंदर कई सारे Subdomain को बना सकते है और उन सभी पर अलग-अलग वेबसाइट बना सकते है। 

जैसे example.com यह आपकी main साइट है, अब अगर हमने इसकी मदद से कुछ Subdomains को बनाया है तो वह store.example.com कुछ इस तरहा होगा। इसमें ‘store’ एक subdomain होगया, ‘example’ आपका main domain हो गया और .com एक Top Level Domain(TLD) हो गया। 

ऐसा नहीं है की आप सिर्फ इसी नाम के Subdomains को बना सकते है, आप अपने Subdomains को जो चाहे नाम दे सकते है। लेकिन आपको एक बात का ध्यान रखना चाहिए की आपके Subdomains का नाम याद रखने में और इस्तेमाल करने में आसान हो। 

शायद आपने कभी notice किया होगा की आप जब भी गूगल के किसी product या वेबसाइट पर visit करते है तो आपको कुछ इस तरह की sites देखने को मिलती है। जैसे mail.Google.com, play.google.com और अगर आप google ads को इस्तेमाल करते है तो आपने देखा होगा की उसकी वेबसाइट ads.google.com कुछ ऐसी होती है।

ये सब क्या है? ये सब Google.com के Subdomains ही तो है। जैसे mail.google.com ये गूगल की email service है, play.google.com ये गूगल का play store service है।

Subdomain के यूज़ और फायदे क्या है? 

1.  काफी technical लोग हर चीज को main चीज पर करने से पहले उस पर apply करने से पहले किसी test unit पर उस चीज को apply कर देखते है। ताकि अगर कुछ problem होती भी है तो main चीज को कोई नुकसान न हो।

ऐसे ही वह main साइट पर कोई plugin या कोई update करने से पहले उसे पहले Subdomains पर apply कर देखते है। एक रिपोर्ट के अनुसार यह एक सबसे कॉमन यूज़ है Subdomain का। 

2. आपने देखा होगा की काफी सारे eCommerce स्टोर कंपनियां Subdomains का इस्तेमाल अपने payment method, किसी प्रोग्राम को रन करने के लिए या अपने affiliate program को अलग से मैनेज करने के लिए इस्तेमाल करते है। 

करेंगे भी भला क्यों नहीं पहले ही eCommerce साइट कफ complex होती है, ऐसे में इन चीजों को वह अलग से मैनेज करने के लिए Subdomains का इस्तेमाल करते है। Read also: International SEO क्या है और इंटरनेशनल SEO कैसे करे?

3.  अलग country और languages को टारगेट करने के लिए। हम आपको काफी सारे ऐसे उदाहरण दे सकते है जैसे wikipedia को ही लेलो। जिसकी main site wikipedia.com है और इसका Subdomain en.wikipedia.com अलग language को कवर करने के लिए बनाया गया है। 

वही अगर आप Subdomains के जरिए किसी दूसरी country को टारगेट करना चाहते है तो उसका URL in.example.com कुछ ऐसा होगा। इसका मतलब है की यह साइट या Subdomain इंडिया को कवर करता है। 

4. आप Subdomains की मदद से guest post के लिए एक अलग साइट बना सकते है। जो की रहेगी आपके main domain के अंदर ही लेकिन एक पूरी तरह से अलग साइट होगी।

अगर आप चाहते है की guest post आपके main कंटेंट पर असर न करे और वह पूरी तरह से अलग दिखाई दे तो आप अलग से एक साइट को बना कर वह अपनी guest posts को दिखा सकते है। 

5. अगर आप single web hosting इस्तेमाल करते है तो आपको अलग से hosting खरीदने की जरुरत नहीं पड़ेगी और आप एक ही hosting पर multiple वेबसाइट को चला सकते है। 

Subdomains के काफी फायदे है जिनमे से कुछ important के बारे में हमने ऊपर देखा है। Subdomains आपको पूरा फ्रीडम देते है एक अलग से साइट को रन कराने में। अगर आप इनका सही से इस्तेमाल करते है तो आपके main साइट पर, उसके SEO पर कोई भी असर नहीं होगा। क्योंकि search engine Subdomains को एक अलग वेबसाइट या अलग domain की तरह ट्रीट करते है। 

Hostinger में Subdomain कैसे create करते है?

Subdomains को create करना काफी आसान होता है। आप आपके hosting के cpanel और अगर आप hostinger इस्तेमाल करते है तो hpanel की मदद से Subdomains को बड़ी आसानी से create कर सकते है। 

अब जबकि मैं Hostinger इस्तेमाल करता हूं तो मैं आपको Hostinger में Subdomain कैसे Create करते है यह बताने वाला हूं। तो चलो देखते है की Hostinger के hpanel में Subdomain को कैसे Create करते है

Step 1: अपने Hosting Account में log in करे 

अगर आप Hostinger इस्तेमाल करते है तो आप अपने hostinger cpanel से login कर अपने hosting के hpanel में जाए। Hostinger जो की आज के समय में काफी popular hosting provider कंपनी बन चुकी है।

Step 2: Main Domain चुने

login करने पर आपको कुछ इस तरह का dashboard दिखाई देगा। अब dashboard में आने के बाद आपको उस domain को select करना है जिसके ऊपर आप subdomain को create करना चाहते है।

Left corner में आपको सबसे ऊपर एक drop down button दिखाई दे रहा होगा जिसकी मदद से आप अपने domain को select कर सकते है। 

Subdomain क्या है और Subdomain कैसे create करते है?

Step 3: Scroll Down करे और Subdomain section पर click करे 

Domain को select करने के बाद आपको dashboard को थोड़ा निचे scroll करन पड़ेगा। Scroll करने पर आपको निचे कुछ options दिखाई दे रहे होंगे जिसमे subdomain एक option होगा। इसमें आपको काफी सारे options दिखाई दे रहे होंगे, लेकिन हमें subdomain create करना है तो हमें उसे ही चुनना होगा। 

Subdomain क्या है और Subdomain कैसे create करते है?

Step 4. अपने Subdomain का नाम enter करे 

Subdomain section पर click करने के बाद कुछ इस तरह का पेज open हो जाएगा। ऊपर दिखाई देने वाले blank field में आपको आपके subdomain का नाम डालना है। याद रखे नाम ऐसा हो की वह users को याद रखने और use करने में आसान हो। नाम डालने के बाद आपको create button पर click कर देना है। 

Subdomain क्या है और Subdomain कैसे create करते है?

Step 5. Congratulations आपका subdomain तैयार है

Subdomain create करने के बाद कुछ इस तरह का dashboard दिखाई देगा जिसमे आपको आपका बनाया हुआ subdomain दिखाई देगा। तो आपका subdomain बन कर ready है, अब आप इस तरह काफी सारे subdomains को create कर सकते है। 

Subdomain क्या है और Subdomain कैसे create करते है?

तो देखा दोस्तों Subdomains को create करना कितना आसान है। 

अगर आपको जानकारी अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूले और कमेंट कर हमें बताये की आपको यह जानकारी कैसी लगी?

Read also: Subdomain vs Subdirectory कौन बेहतर है?

Enjoyed the post! Leave a Reply...