Wholesale Business कैसे शुरू करे? Full Details in Hindi

  • Post author:
  • Post last modified:July 18, 2021

वैसे Retail रिटेल और Wholesale Business की है दो बेसिक मॉडल सबसे ज्यादा फेमस है। ज्यादातर business इन्हीं 2 तरीकों से होते हैं। तो अगर आप भी business करना चाहते हैं तो इन दोनों में से किसी एक ऑप्शन को चूस कर सकते हैं। मार्केट में retailers और wholesale की वैसे कोई कमी नहीं है।

लेकिन wholesale का जो business है वह ज्यादा फायदेमंद साबित होता है। अगर आप भी एक wholesale businessman बनना चाहते है तो आज हम आपको पूरी केस स्टडी के साथ के बताएगा की wholesale business की शुरुआत कैसे करती है। 

तो चलिए जानते हैं इसके जरूरी फंडे, होलसेल को थोक व्यापार कहते हैं, जो किसी भी प्रोडक्ट का उत्पाद का बिजनेस है। जिसमें आप अपनी मर्जी से चुने हुए किसी भी प्रोडक्ट को सीधे कंपनियां या उसके किसी डीलर से खरीदते हैं और छोटे दुकानदारों को बेचते हैं। वह सामान कम रेट पर आप देते हैं, जिसमें आपको अपना मुनाफा निकालना होता है। तो मार्केट में लगभग सभी प्रोडक्ट का wholesale business होता है।

जरूरत के सामान का डिस्ट्रीब्यूशन इस बिज़नेस मॉडल को सफल बनाता है। बस आपको सही प्रोडक्ट को चुनने की जरूरत है और उसके सही मार्केट तक अपनी पहुंच बनानी होती है। 

मार्केट की डिमांड को देखते हुए आप अपना कस्टमर बेस जितना बढ़ा पाएंगे उतना ही आपका बिज़नेस आपको मुनाफा देगा। तो अब उन बेसिक चीजों पर ध्यान देते हैं जो wholesale business करने के लिए जरूरी है। 

Market Research करना

Market Research करना हमेशा फायदेमंद रहता है। क्योंकि चप्पल, जूते, दाल, चावल, खिलौने, मोबाइल फोन, इलेक्ट्रॉनिक आइटम्स और लगभग जरूरत की हर चीज में wholesale business का स्कोप है। इसीलिए सही प्रोडक्ट का सिलेक्शन आपको बिजनेस में लीड देगा। आप जिस भी जगह अपना बिज़नेस  खोलना चाहते हैं वो शहर हो या गांव वहां पर पहले देखना होगा कि मार्केट कौन सी चीज की डिमांड है या फिर वह कौन सा प्रोडक्ट है जो आपके एरिया में लोग यूज़ तो कर रहे हैं और उसका कोई wholesale distributer मार्केट में नहीं है। 

यह जानकारी आपको काफी हेल्प करेगी और आपको कौन सा प्रोडक्ट या कैटेगरी में बिजनेस करना है यह डिसीजन लेने में आसानी होगी। 

Business License लेना 

Wholesale Business को करने के लिए license की भी जरूरत पड़ती है। यह आपके बिजनेस को सुरक्षित भी रखेगा और लीगल फॉर्मेलिटीज पूरी करने से आप हमेशा कॉन्फिडेंस के साथ काम कर पाएंगे। ताकि गलती से भी अगर कभी भी आपके स्टॉक पर रेड पड़ी तो आप यह साबित कर पाएंगे कि आप एक लीगल बिजनेसमैन है। क्योंकि पैसों के लेन-देन के मामले में लीगल डॉक्यूमेंटेशन का होना बहुत जरूरी होता है। 

वैसे होलसेल का बिजनेस आफ ट्रेड लाइसेंस ले कर के कर सकते हैं। लेकिन इसके अलावा प्रोपराइटरशिप मॉडल पर भी अपना बिजनेस रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं। Business कोई भी हो और कितना ही बड़ा या छोटा क्यों ना हो एक बार किसी लॉयर से डिस्कस कर लेना अच्छा होता है।

इससे आपको जरूरी papers बनवाने की जानकारी हो जाती है। Business में लेनदेन करने के लिए करंट अकाउंट या चालू खाता खुलवाना पड़ता है। इसके अलावा भी आप GST Registration करवा सकते हैं। क्योंकि जैसे ही आपका टर्नओवर 20 लाख तक पहुंचेगा तो आपको इसकी जरूरत पड़ेगी। साथ ही मिनिस्ट्री ऑफ लेबर के अंदर शॉप्स एंड एस्टेब्लिशमेंट एक्ट में रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं। ट्रेड लाइसेंस आपको अपने नगर निगम नगर पंचायत या लोकल गवर्मेंट बॉडी से मिल जाएगी। 

Distributer को ढूंढ़ना

तो इतना कर लेने के बाद अब अगला काम आता है डिस्ट्रीब्यूटर को ढूंढना। क्योंकि बिना सप्लायर के होलसेल बजट नहीं कर पाएंगे। इसके लिए भी आपको मार्केट में निकलना पड़ेगा और एक ऐसा सप्लायर ढूंढिए जो आपको काफी कम रेट पर सीधे कंपनी से माल सप्लाई करें। कई बार एक ही मार्केट में कई ऐसे एजेंट मिल जाएंगे जो एक ही कंपनी के होते हैं, उनके बिच आपको negotiate करना होगा, ताकि आप अपना प्रॉफिट मार्जिन निकाल सके।

अगर आपको ऐसी कोई कंपनी का आदमी नहीं मिल रहा है तो आप किसी दुकानदार से बात कर सकते हैं, जो उस प्रोडक्ट में डील करता है। उससे आपको कंपनी का कोई ना कोई लिंक मिल जाएगा। सबसे आखरी स्टेप आता है कंपनी की वेबसाइट पर जाना। जहां से आपको कंपनी की सही जानकारी मिलेगी और कई बार कंपनी की वेबसाइट पर सीधा लिखा रहता है कि कंपनी अपना बिज़नेस बढ़ाना चाहती है। उसे wholesaler या distributor की तलाश भी है। अगर यह वाला है ऑप्शन आपको मिल गया है तो आपका आधा काम तो यूं ही आसान हो जाएगा। 

क्योंकि कई कंपनीज wholesale या distributor का business खोलने वाले व्यक्ति को खुद ही गाइड करती है। क्योंकि आपका grow करता बिज़नेस सीधे कंपनी को फायदा पहुंचाएगा। कंपनी सिलेक्ट करते हुए एक बार उसका बैकग्राउंड आपको जरूर से चेक करना होगा। क्योंकि कई बार नहीं कंपनी शुरु-शुरु में तो मार्केट जमाने के लिए अच्छी क्वालिटी का प्रोडक्ट सप्लाई करती है। लेकिन बाद में क्वॉलिटी से कंप्रोमाइज करने लगती है। 

Limited Stock ही रखे 

कई बार कंपनी के distributer आपको ज्यादा से ज्यादा stock रखने की सलाह देते है। या जबरदस्ती में ज्यादा quantity में माल सप्लाई करने पर जोर देते है। तो ऐसे में आप किसी भी प्प्रेशर में ना आए और अपना बिजनेस कैपिटल और मार्केट response को देखते ही माल का ऑर्डर दे। 

एक बड़े Store को देखना 

अब बात करते wholesale business में सामान स्टॉक करने के लिए भी एक बड़ी सी जगह या गोदाम की जरूरत पड़ती है। तो इसके लिए पहले आपको जगह देख लेनी पड़ेगी। आप किस तरह का wholesale business करने जा रहे हैं उस पर प्रोडक्ट का साइज कितना बड़ा है कितना छोटा है। इस पर आपकी store का कितना स्पेस है वह डिपेंड करेगा।

तो अपना यह store या गोदाम एक ऐसी जगह पर आप बनवाइए जहां पर ट्रक या दूसरी डिलीवरी वाली गाड़ियों के आने-जाने का स्पेस हो और वह मार्केट के आसपास ही हो। जहां से चीजों को आसानी से डिलीवरी के लिए लाया जा सके। 

Safety और Security पर भी खर्च करे 

इसी के साथ बात करते हैं सिक्योरिटी खर्चा करना होगा। जी हां, क्योंकि पैसों की इन्वेस्टमेंट आपको अपनी चीजों को चोरी होने या दूसरे एक्सीडेंट से बचाने के लिए भी करनी होगी। अगर आपके गोदाम में लाखों का माल है तो आप कोई भरोसेमंद सिक्योरिटी गार्ड रखने की जरूरत होगी। इसके लिए आप किसी सिक्योरिटी सर्विस की भी हेल्प ले सकते हैं।

साथ ही शार्ट सर्किट की वजह से अक्सर आग लगने की बातें सुनाई देती है। जिसके लिए भी आपको गोदाम बनवाते वक्त अच्छी क्वालिटी की इलेक्ट्रिक वायरिंग करवानी होगी। आग बुझाने की चीजें भी रखना समझदारी होगी, क्योंकि कई बार फायर ब्रिगेड के पहुंचने तक नुकसान बहुत ज्यादा हो चुका होता है। अपने नजदीकी फायर डिपार्टमेंट से एक फायर सेफ्टी लाइसेंस भी आप ले लीजिएगा।

इससे आपको क्लेम करने में आसानी होगी। थोड़ी दूर की अगर हम सोचे तो इंश्योरेंस ले लेना भी बुद्धिमानी होगी। कोई नहीं चाहेगा कि उसके बिज़नेस में कोई भी अनहोनी हो जाए, पर इंश्योरेंस लेने पर आप बेफिक्र रहेंगे कि आप की चीजें सुरक्षित है। 

हर चीज का हिसाब रखे

अपने बिज़नेस को सही ट्रैक पर रखने के लिए मॉनिटरिंग भी हमेशा अच्छी ही होती है। मतलब यह कि अपने बिज़नेस में चीजों का हिसाब रखना, कितना माल आया, कितने की बिक्री हो रही है, मार्केट में उधार पड़ गई चीजों का पेमेंट आया या नहीं। आपका अपना कोई बकाया तो है या नहीं, ऐसी बहुत सारी चीजें।

इन सभी पर नजर रखने से आप बिज़नेस में घाटे से बचते रहेंगे। अगर इन चीजों का हिसाब आप नहीं रख पा रहे हैं तो उसके लिए किसी अकाउंटेंट को आप काम पर रख लीजिए। जो आपका बिजनेस संभालेगा और आप अपना फोकस अपने बिजनेस को बढ़ाने पर दे पाएंगे। 

Family Members से business के बारे में डिसकस करे 

अगर आप चाहते हैं कि आपका बिजनेस grow करता रहे और आगे चलकर ही आपका फैमिली बिज़नेस बने तो आपको अपनी फैमिली के साथ भी चीजें डिस्कस करनी होंगी। घर पे आपकी फैमिली मेंबर आपकी की वाइफ या बच्चे जो भी बिजनेस को बढ़ाने में इंटरेस्ट ले रहे हैं, उनसे आप बिज़नेस की बातें कर सकते हैं। वैसे ही यह पूरी तरीके से आपका अपना खुद का फैसला होगा। 

पैसों को सही जगह Invest करे 

अब बात आती है पैसों की जो सबसे ज्यादा जरूरी है। अपने बिज़नेस कैपिटल को कहीं भी इन्वेस्ट करने से पहले किसी जानकार इंसान से सलाह लेना आपको फायदे में रखेगा। किसी की भी देखा-देखी करके अपना पैसा किसी ऐसी जगह पर ना लगाएं जिसकी आपको जानकारी ना हो। आपका wholesale business दो लाख से दो करोड़ लगाकर भी शुरू हो सकता है।

पर आप खुद डिसाइड करना होगा कि आपका business field क्या होगा। कई बार जिस भी कंपनी का wholesale business आप करने जा रहे हैं वह भी अपनी तरफ से कुछ इन्वेस्ट करती है, इसका भी पता कर ले इससे आपका पर्सनल इन्वेस्टमेंट कम हो सकता है। 

कुछ Wholesale Business Ideas

तो अब हम आपको बताते हैं कुछ ऐसे बिज़नेस के बारे में जो होलसेल बिज़नेस के तौर पर आपके लिए मुनाफे का सौदा बन सकते हैं। चिप्स और स्नैक्स का बिजनेस है evergreen, जी हां किसी भी चाय की दुकान या स्टेशनरी शॉप पर चले जाइए आपको इतने सारे चिप्स और स्नैक्स आइटम्स मिल जाएंगे।

जिन्हे हर एज ग्रुप के लोग कंज्यूम कर रहे होते हैं। आपको इनमें से अपनी चॉइस का प्रोडक्ट चुनना है और होलसेल का कारोबार करना है। वैसे बच्चे सबसे ज्यादा चिप्स खाते हैं, अगर आप किसी शहरी इलाके में है तो वहां किसी ब्रांडेड प्रोडक्ट को आप ले सकते हैं। छोटी जगह पर लोकल प्रोडक्ट की भी अच्छी डिमांड होती है इस बात का ध्यान रखिएगा।

बच्चों के खिलौनों की बात करें तो खिलौनों से बच्चों का मन कभी नहीं भरता है। वह जैसे जैसे बड़े होते जाते हैं उनकी पसंद भी बदलती जाती है। सस्ते खिलौनों से लेकर महंगे वीडियो गेम तक हर तरह के प्रोडक्ट की अपनी डिमांड है। इनमें मुनाफा भी काफी ज्यादा है। 

साथ ही साथ जब बात हो हेल्थ की तो आयुर्वेद का है जमाना। इंडिया में योग और आयुर्वेद चलन दोबारा पॉपुलर हुआ है बोहोत से आयुर्वेदिक प्रोडक्ट और उनकी ब्रांच मार्केट में अच्छा बिजनेस कर रहे हैं। ऐसे में हेल्थ केयर से लेकर की ब्यूटी प्रोडक्ट में आयुर्वेद की डिमांड सातवें आसमान पर है। आयुर्वेद को बिज़नेस मॉडल बना करके भी आप लाखों रुपए कमा सकते हैं।

अगले बिज़नेस की बात करें तो वह हो सकता है किचन के बर्तन, ट्रेंडी किचन बर्तन आजकल हर किचन का हिस्सा बन रहे हैं। मॉडर्न और मॉड्यूलर किचन का सामान आजकल बहुत ज्यादा डिमांड में है। क्योंकि अपने किचन को भी लोग अपने बेडरूम जितना इंपॉर्टेंस देते हैं और कभी-कभी तो बहुत ज्यादा ही। उन्हें सजाने के लिए करके यूज़ करने वाले बर्तनों में इन्वेस्ट हो रहा है। इसीलिए नो डाउट आपका बिजनेस grow कर सकता है।

ऐसी हजारो छीने है जो आपके wholesale business को बूस्ट दे सकती है। बस सही प्रोडक्ट और मार्केट रिसर्च के साथ बिजनेस करना जरूरी है। सबसे बड़ी बात यह कि हम आपको रास्ता तो बता सकते हैं लेकिन चलना आपको है। इसलिए आप की मेहनत का होना भी उतना ही जरूरी है। अगर आप भी wholesale business में जाना चाहते हैं तो हमारी तरफ से आपको ढेर सारी शुभकामनाएं !

Enjoyed the post! Leave a Reply...