Megalodon किस तरह इस धरती से विलुप्त हो गया?

  • Post author:
  • Post last modified:September 4, 2021

Megalodon का अंत कैसे हुआ?

आज से करीब 25 लाख साल पहले Megalodon इस धरती से विलुप्त हो गया। लेकिन क्या आपको पता है के इस धरती से इनके ग़ायब हो जाने की असल वजह क्या थी? अगर साइंटिस्ट की माने तो आज से ठीक 25 लाख साल पहले Megalodon इस धरती से अपने आप ग़ायब नहीं हुए थे।

कई साइंटिस्ट का तो यह तक मानना था कि धरती से 150 लाइट ईयर दूर एक सुपरनोवा एक्सप्लोजन कि रेडिएशन धरती तक पहुंची थी और उन्हीं रेडिशन ने Megalodon को धरती से मिटा दिया। हालांकि यह बात सही भी है, क्यों की जब भी किसी सितारे का विस्फोट होता है तब उसमे से काफी हीट निकलती है जो की हजारों लाइट ईयर तक दूर जाती है।

शायद इसी हीट में से कुछ हीट हमारे धरती से टकरा गयी होगी और उसने हमारे धरती को बोहोत ही ज्यादा गरम बना दिया होगा जिस वजह से बहुत से जीव और उनके साथ Megalodon भी इस धरती से ग़ायब हुए थे।लेकिन 2019 में रिसर्च की एक टीम के द्वारा समुद्र के अंदर अजीब सी खोज की गई।

ये खोज किसी और चीज की नहीं बल्कि Megalodon के हड्डियों की थी। जो की उनके विलुप्ति के समय से भी ज्यादा पुराने थे, शायद सुपरनोवा एक्सप्लोजन से भी पुराने। इसके बाद एक साइंटिस्ट के द्वारा एक और नई थ्योरी लिखी गयी। जिसमें Megalodon के विलुप्त होने की वजह शार्क को बताया गया। 

Megalodon तो आकार में शार्क से काफी बड़े थे तो शार्क उनके विलुप्ति की वजह कैसे बने?

अब आप सोच रहे होंगे की Megalodon तो आकार में शार्क के मुकाबले काफी बड़े हुवा करते थे। उसके सामने समुद्र का कोई और जीव टिकता ही नहीं था। तो Megalodon से करीब पाँच गुना छोटे शार्क इनके विलुप्ति की वजह कैसे बन सकते है? अगर Megalodon की बात करे तो वो अपने शक्तिशाली जबड़े से दूसरे जीवों पर हमला करते थे। वही अगर शार्क की बात करे तो जो ग्रेट वाइल्ड शार्क आज मौजूद है बिलकुल वैसे ही शार्क उस समय भी मौजूद थे। उनका जबड़ा और दाँत उस समय भी उतना ही मजबूत और खतरनाक हुवा करता था जितना आज के समय है।

ग्रेट वाइल्ड शार्क के जबड़े में बहुत सारे नुकीले दाँत होते है और उनका जबड़ा काफी लचीला भी होता है। जिसकी वजह से शार्क कितने भी बड़े शिकार को आसानी से खा सकते है। शायद आपको पता ही होगा के शार्क Megalodon के मुकाबले बहुत ही ज्यादा तेज और फुर्तीले भी होते है। शायद इसी वजह से साइंटिस्ट का ऐसा मानना है के शार्क उस समय Megalodon का खाना छीन लेने वाले जीव में से एक रही होगी।

मतलब Megalodon को उसके शिकार तक पोहचने से पहले ही शार्क उस शिकार को अपना शिकार बनती थी। लेकिन आज भी इसका कोई सबूत तो नहीं  है के Megalodon अकेले ग्रेट वाइल्ड शार्क की वजह से विलुप्त हुवा था। क्यो की साइंटिस्ट का ऐसा मानना है के शार्क सिर्फ छोटे जीवों को ही अपना शिकार बनाते होंगे, लेकिन व्हेल और बड़े समुद्री जीवों को नहीं खा पाते थे। 

कोई जीव किसी दूसरे जीव के विलुप्ति की वज़ह कैसे बन सकता है?

एक थ्योरी में ऐसा भी कहा गया है के एक जीव अकेले किसी दूसरे जीव के विलुप्त होने का कारण नहीं बन सकता। आज अगर साइंटिस्ट की माने तो टाइगर शार्क और बुल शार्क का भी Megalodon के विलुप्ति में योगदान था। क्यो की वो Megalodon के छोटे शिकार को तेजी से छीन लेते थे। ऐसे में Megalodon को खाने के लिए सिर्फ व्हेल पर ही निर्भर होना पड़ता था।

Megalodon के बच्चे शार्क के आकर में काफी छोटे होते थे जिसका फायदा ग्रेट वाइल्ड शार्क और बुल शार्क को मिलता था। ये शार्क Megalodon के छोटे बच्चों को आसानी खा जाते थे। इसी प्रकार यंग Megalodon को खाने के लिए स्ट्रगल करना पड़ता था। 

इसी स्ट्रगल में उनकी जान चली जाती थी, जिससे Megalodon की पॉपुलेशन कम हो रही थी। अब उनके पास खाने के लिए सिर्फ व्हेल ही बचे थे। एक तरफ जहाँ Megalodon की पॉपुलेशन कम हो रही थी वही शार्क की पॉपुलेशन में काफी उछाल आ रही थी। जो की Megalodon के लिए और भी चिंता का विषय बन गया। 

Megalodon सिर्फ गर्म जगहों पर रह पाते थे, वही शार्क और व्हेल को ठंडी जगहों पर रहना अच्छा लगता था। जब धरती के तापमान में बदलाव हुवा तब सारे छोटे समुद्री जीव ठंडी जगहों पर चले गए और इन्ही छोटे जीवों की तलाश में व्हेल भी ठंडे पानी में चले गए। जिस वजह से Megalodon को गर्म पानी के बचे हुए छोटे जीवों पर निर्भर होना पड़ा। क्योंकि शार्क भी यहाँ मौजूद थे तो उन्होंने गर्म पानी के छोटे जीवों को खाना शुरू किया, अब शार्क की संख्या ज्यादा होने की वजह से गर्म पानी के बचे हुए छोटे जीव भी ख़त्म होने लगे थे।

तब Megalodon को खाने की कमी की वजह से भूखा रहना पड़ा और इसी तरह धीरे-धीरे वो मरने लगे। ऐसे ही लगातार उनकी मौत होते गई और एक दिन ऐसा आया जब Megalodon इस धरती से विलुप्त हो चुके थे। तो इस तरह ग्रेट वाइल्ड शार्क ने Megalodon के विलुप्त होने में अपनी भूमिका निभाई। लेकिन कुछ लोग आज भी दावा करते है के Megalodon आज भी मरियाना ट्रेंच में जिंदा है। इस बारे में अपनी राय देने के लिए हमसे सोशल मीडिया पर ज़रूर जुड़े। 

Enjoyed the post! Leave a Reply...