Content Writing Tips For Beginners Website In Hindi For 2021

  • Post author:
  • Post last modified:September 3, 2021

Blogger’s और SEO’s के लिए Writing एक skill है जो कॉमन है, important है लेकिन फिर भी सबसे ज्यादा ignore किया जाता है। Blogger’s फिर भी अपनी writing पर focus करते है उसको हमेशा सही करने की कोशिश करते रहते है। लेकिन SEO’s writing पर बोहोत कम focus करते है जबकि इससे उन्हें नुकसान भी होता है। 

आज हम देखेंगे की आप SEO guidelines को ध्यान में रखते हुए बेहतर कैसे लिख सकते है, चाहे आप on-page SEO, technical SEO या link building पर ही क्यों न focus करते हो। आपको अच्छी writing आनी जरूरी है, अगर आप अच्छा लिखना जानेंगे तभी अच्छे content को implement कर पाएंगे। 

आज आपको जो भी सिखने मिलेगा उसका फायदा आपको उतना ही मिलेगा जितना आप उसे practice करेंगे। कुछ लोग naturally अच्छे writer होते है, जैसे poet, story writer ये सब अपनी बात को अच्छे और attractive शब्दों में लिख सकते है क्योकि ये naturally talented होते है। बाकि हम जैसे जितने भी भोले-भाले होते है वो अगर अच्छा लिखना चाहते है तो उसके लिए उन्हें काफी मेहनत करनी पड़ती है, practice करनी पड़ती है। 

आगे देखने वाले Tips के जरिए आपको ये पता लगेगा की आपको किस direction में कितनी मेहनत करनी है। अगर आप YouTube पर देखेंगे तो आपको काफी ऐसे मासूम मिलेंगे जो On-Page SEO के नाम पर Content Writing tips दे रहे है।  On-Page SEO और Content Writing अलग-अलग चीज है, content writing बेहद important है लेकिन सिर्फ अच्छा लिखना on-page SEO नहीं होता है।

तो अच्छा लिखने के point को हम दो parts में divide करते है 

  • Basic Tips 
  • Long-Term Practices 

Basic Tips 

सबसे पहले हम basic tips के बारे में बात है, 

Write a Small Sentences 

चाहे आप english में लिखे, hindi में लिखे या किसी भी language में लिखे, चाहे आप Blog लिखे, website के लिए content लिखे या किसी और रीज़न से लिखे। अगर आप चाहते है की Search Engine उसे rank करे, उसे समझ पाए और users को suggest करे तो छोटे और आसान sentences में अपनी बात लिखिए। 

अच्छे और आसान paragraph और sentences के rank होने के chances ज्यादा होते है। इसके दो reason है 

Search Engine Can’t Easily Understand Human Language 

Search Engine खुद अभी human language को अच्छी तरह समझ नहीं पाते है। अभी हाल ही में open AI based language model GPT3 launch किया है जिसमे 175 billion language parameters है। लेकिन फिर भी वो सही से use करने लायक text नहीं लिख पाता है। 

ऐसे में Search Engine के बोहोत मुश्किल sentences को समझने के chances बोहोत कम होते है। अगर Search Engine आपके आर्टिकल को सही से समझेंगे नहीं तो सही keyword के लिए rank भी नहीं करेंगे। इसलिए छोटे sentences अच्छे होते है उन्हें इस्तेमाल करिए। 

Different Understanding Level 

Audience का Understanding Level अलग-अलग होता है। जो बात आपको आसानी से समझ मे आती है हो सकता है वो आपके readers के लिए समझना थोड़ा मुश्किल हो। जब आप बेहद आसान language में लिखते है तो आपके content के ज्यादा लोग तक पोहचने के chances बढ़ जाते है और लोग उसे interest लेकर पढ़ते है। 

किसी भी topic पर लिखना या बोलना आसान होता है लेकिन उसे आसान से आसान भाषा में समझाना मुश्किल होता है। 

Don’t Read The Content of Competitor

काफी लोग कहेंगे की आपको अपने competitor के content को पढ़ना चाहिए, उसने जितने टाइम Keyword को इस्तेमाल किया है उससे ज्यादा हमें use करने चाहिए, जितनी headlines इस्तेमाल की है उससे ज्यादा हमें use करनी चाहिए। 

लेकिन ये सब बेकार की चीजे है, जब आप अपने competitor के content को पढ़ कर अपना content बनाते है तो इस बात के chances बढ़ जाते है की आप उसी की style में लिखेंगे। लेकिन अगर आप अपने competitor के जैसा ही लिखेंगे तो गूगल आखिर एक ऐसे copied content को क्यों rank करेगा जिसका original version उनके पास पहले से मौजूद है। 

अपने competitor के content को analyze करे, वो किस तरह की links को या sites को internally या externally link कर रहे है उसे समझे लेकिन पढ़े नहीं। 

Use Proper Headline Tags 

Headline Tags यानि की H1, H2, H3 इन सब को ठीक से और सही से implement करे। इस point पर काफी लोगो को कुछ confusion रहते है 

काफी लोगो को लगता है की H1, H2, H3 ये Ranking Factor है, और जवाब है नहीं  H1, H2, H3 ranking factor नहीं है। 

लेकिन H1, H2, H3 tags पर आपको फिर भी ध्यान देना चाहिए। अब आपके मन में सवाल आ रहा होगा की जब ये ranking factor नहीं है तो इन्हे use भी क्यों करे? देखिए  H1, H2, H3 HTML Tags है और technically इनके होने या ना होने से rank पर कोई असर नहीं होता है। 

लेकिन जब आप H1, H2, H3 tags को इस्तेमाल करते है तो आप basically अपने content को सही से Format कर रहे होते है। आप पेज के important हिस्से को heading से शुरू करते है, आपके content को एक शेप  मिलता है और readers को उसे पढ़ने में आसानी होती है। 

Heading users को ब्रेक लेने का option देती है। किसी 1000 words के आर्टिकल को एक बार में पढ़ना शायद थोड़ा बोरिंग हो जाए, लेकिन अगर उसमे 2 heading है और user एक heading को ख़तम करने के बाद थोड़ा ब्रेक लेता है और फिर दूसरी पढ़ना शुरू करता है तो उसे rest मिलता है।

इस तरह की formating आपके users को आर्टिकल पढ़ने और समकझने में आसान बनाती है। उन्हें पढ़ना अच्छा लगता है और वो ज्यादा से ज्यादा या पूरा आर्टिकल पढ़ कर ही वापस जाते है और ऐसे में google भी आपकी साइट पर खुश होता है। 

तो technically H1, H2, H3 ranking factor नहीं है उन्हें गूगल कोई importance नहीं देता है। लेकिन उन्हें use कर जब आप अपने content को format करते है user को उसे पढ़ने में आसानी होती है वो गूगल को अच्छा लगता है तो वो आपके कंटेंट को अच्छे से rank करता है। 

तो  H1, H2, H3 heading tags को बिना सोचे समझे use मत करिए, अपने आर्टिकल को या content को सही से format करने के लिए ही use करिए। 

Make Text Impressive and Attractive 

अपने आर्टिकल के text को decorate करे। Bold, Italic, Table और Bullets Point को ignore मत करिए। Bold, Italic, Table Content और Bullets Points users को उस खास हिस्से के लिए attract करते है, उन्हें उस खास points को पढ़ने में और याद रखने में मदद करते है। 

एक normal approach होती है की keywords को Bold किया जाए। जो की सही भी है लेकिन काफी सारे लोग पेज में जितनी भी बार keyword repeat होगा उसे वो Bold कर देते है। जैसे Google को मोतियाबिंद हो गया 

पहले तो अपने content में बार-बार unnaturally Keywords को ठूसना बंद करिए और अगर ऐसा किया भी है तो उसे bold कर के google को बताने की कोई जरूरत नही है। Bullets Points भी आपके content को strength देते है, जिनके जरिए आप important चीजों को list करते है जिसे user याद रख सकता है। इसलिए Bold, Italic, Table और Bullets Point को इस्तेमाल करने वाला content अच्छा rank करता है। 

Use Keywords Perfectly 

Keyword Density एक मिथ है लेकिन keywords बोहोत जरूरी होते है। Problem ये है की अधिकतर लोग keywords को वहां use नहीं करते है जहा उसका सबसे ज्यादा असर होता है। आपके content में 5 ऐसी location है जहा keyword use किया जाना चाहिए। 

Blog Post में Keyword को कहा Place करना चाहिए?

  • Meta Title 
  • Meta Description 
  • H1 Tag 
  • At Least Once In The Anchor Text of The Internal Link 
  • At Least Once In The Anchor Text of The External Link 

इन पांचो place पर keyword naturally use होना चाहिए जबरदस्ती ठूसा नहीं जाना चाहिए। Keyword को एक जैसे ही repeat करने की जरूरत भी नहीं है। Google language को अच्छी तरह नहीं समझ सकता है लेकिन words के combination से उसका मतलब निकाल सकता है। 

तो अगर आपका keyword है kids bed तो आप beds for children भी इस्तेमाल कर सकते है। अगर आप sure नहीं है तो google पर search कर के देखिए की क्या गूगल उन्हें सही से समझ रहा है या नहीं। 

तो ये थे कुछ Tips जिन्हे आपको इस्तेमाल करना ही चाहिए लेकिन कुछ और भी tips है जो आपको और बेहतर लिखने में मदद करेंगे। 

Long Term Practices 

Daily Practice करिए 

जैसा की हमने शुरू में कहा था की आपको अच्छा लिखने के लिए मेहनत करनी होगी। आप एक दिन में या एक महीने में अच्छा लिखना नहीं शुरू कर देंगे। रोज और लगातार लिखने से आपकी स्पीड बढ़ेगी और धीरे-धीरे आप Best से Better लिखने लगेंगे। 

एक Reader की तरह सोचिए 

Blog या Website के लिए लिखते समय हमेशा हमें reader के perspective से सोचना चाहिए। Search Engine पर लोग normal चीजे पढ़ने नहीं आते है वो अधिकतर कोई question लेकर आते है जिसका जवाब उन्हें चाहिए होता है। आपको उनको सिर्फ उसका जवाब नहीं देना है बल्कि उन्हें सही से guide भी करना है। कोई छोटा बच्चा भी उसे आसानी से समझ सके आपको कुछ ऐसा content लिखना है। 

जरूरत से ज्यादा Long मत लिखिए 

एक चीज काफी ज्यादा फैली हुई है की ज्यादा से ज्यादा content लिखोगे तो ही आपकी post rank होगी। ऐसा नहीं है आप ही सोचो की आपको किसी दो line के जवाब के लिए 2500 words का आर्टिकल दिखाया जाए तो आपका रिएक्शन क्या होगा?

जाहिर सी बात है आप उसे पढ़े भी नहीं, हर किसी को अपने सवाल का जवाब कम से कम शब्दों में चाहिए होता है। सब को पढ़ना लिखना इतना ही अच्छी लगता होता तो सब Topper होते सब Scientist बन जाते। सही कहा ना? 

तो जितने कम शब्दों में आप अपनी बात को समझा सकते है उतना ही अच्छा rank होगा और google भी अच्छा rank करेगा। ना ही अपने content को छोटा रखने के लिए लिखिए और ना ही जबरदस्ती बड़ा करने के लिए लिखिए बल्कि user को उसके सवाल का जवाब मिल जाए बस इतना लिखिए। 

Spellings और Grammar का ध्यान रखिए 

Spellings और Grammar की mistakes से नॉर्मल users भी confuse हो सकते है और Search Engines भी। जब users और search engine आपकी बात को सही से समझेंगे नहीं तो आपको better रैंक भी नहीं मिलेगी। 

Spellings और Grammar को ठीक करने के लिए सिर्फ Grammarly पर भरोसा मत करिए, ये सिर्फ software’s है वो गलत भी हो सकते है। इसलिए खुद से पढ़िए और अपने आर्टिकल को human feel दीजिए। 

Enjoyed the post! Leave a Reply...