OTT Platform क्या है? OTT काम कैसे करता है? In Hindi

  • Post author:
  • Post last modified:November 15, 2021

दोस्तों आपने OTT के बारे में कही न कहीं सुना या पढ़ा तो जरूर होगा। तो आज हम web series के काफी दीवाने हो चुके है और हमारी पसंद की सीरीज का अगर कोई नया पार्ट 2 आने वाला हो तो हम उसका कितना बेसब्री से इंतजार करते है यह हमें ही पता। ईद पर रिलीज़ होने वाली सलमान भाई की ‘Radhe‘ सीरीज ने Zee5 के सर्वर को ही क्रैश कर दिया, क्योंकि इस सीरीज को देखने के लिए Millions में लोगों ने Zee5 पर अपना अकाउंट बनाने के लिए visit किया था।

कोरोना की वजह से हम घर से बहार नहीं निकल सकते, अपनी पसंदीदा चाट नहीं खा सकते, अपने दोस्तों के साथ थिएटर जा कर मूवी नहीं देख सकते। लेकिन OTT के जरिए हम चाट तो नहीं खा पाए लेकिन अपनी पसंदीदा मूवी तो जरूर देख सकते है। अब आपके मन में एक सवाल आ रहा होगा की OTT Platform क्या है? यह काम कैसे करता है और कौनसे-कौनसे OTT Platform होते है? तो चलो इन्हे थोड़ा विस्तार से समझते है।

OTT Meaning In Hindi

OTT का फुल फॉर्म “Over The Top” होता है। 

OTT Platform क्या है?

Over The Top (OTT) Platform एक मीडिया सर्विस है जो यूजर को सीधे इंटरनेट के द्वारा उपलब्ध कराई जाती है। OTT Platform की मदद से हम उन Services को देख सकते है जो हमें पहले Cable, Broadcasting और Satellite के द्वारे देखने को मिलती थी। जिसके लिए हमें काफी खर्चा भी करना होता था, लेकिन OTT एक ऐसा Platform जहां हम Subscription-based Video-on-Demand (SVoD) सर्विस की मदद से सीधे अपने मोबाइल फ़ोन से भी किसी मूवी या टीवी शो को बड़ी आसानी से देख सकते है।

आसान भाषा में अगर कहे तो OTT Platform वीडियो और ऑडियो को इंटरनेट के माध्यम से सभी तरह के डिवाइस पर उपलब्ध कराता है। जैसे कुछ सालों पहले अगर हमें कोई मूवी देखनी होती थी तो हम उसे अपने टीवी पर या थिएटर में जा कर देखते थे। लेकिन आज वही मूवी हम अपने मोबाइल या स्मार्ट टीवी पर घर बैठे OTT Platform पर देख सकते है।

OTT Cable, Broadcast और Satellite Television Platforms जो आम तौर पर वीडियो कंटेंट के Controllers और Distributors हुआ करते थे इनके बिना भी सभी तरह के वीडियो कंटेंट को सीधे इंटरनेट के माध्यम से यूजर तक पहुंचा देता है। Read Also: Google Page Experience Ranking Signal क्या है?

OTT Platform काम कैसे करता है?

OTT Platform एक वेबसाइट की तरह काम करता है, जिस पर काफी सारा वीडियो और ऑडियो कंटेंट मौजूद होता है। इस कंटेंट को यूजर अपनी पसंद के हिसाब से देख सकते है। YouTube भी एक तरह का OTT Platform ही है जिस पर करोड़ो वीडियो मौजूद है। OTT Platform जिस टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करते है उसे Content Delivery Network (CDN) कहां जाता है। इस टेक्नोलॉजी की मदद से OTT अपने कंटेंट को बड़ी आसानी से यूजर तक काफी तेजी से पोहचा देते है। CDN एक काफी अच्छी टेक्नोलॉजी है, जिसकी मदद से कंटेंट काफी तेजी से यूजर तक पहुंच जाता है। 

CDN का एक फायदा ऐसा भी है की अगर किसी एक एरिया का सर्वर ख़राब हो जाता है तो सिर्फ उसी एरिया के लोगो को सर्विस मिलने में थोड़ी मुश्किल होगी। ऐसे में बाकि दुनिया भर के यूजर इस सर्विस को एक्सेस कर पाएंगे। OTT Platform दुनिया भर के इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर के साथ टायउप कर अपना कंटेंट उन्ही के सर्वर पर डालते है।

जिससे यूजर को वह कंटेंट इंटरनेट प्रोवाइडर से ही मिल जाता है न की OTT के किसी दूर के सर्वर से। OTT Platform को स्मार्ट Platform भी कहा जाता है, क्योंकि इसका कंटेंट आप अपने मोबाइल से लेकर बड़े से बड़े डिवाइस जैसे टीवी पर भी देख सकते है। यह कंटेंट डिवाइस के हिसाब से एडजस्ट हो जाता है। 

OTT Platforms पैसे कैसे कमाते है? 

OTT Subscription के जरिए कमाई करते है। जैसे कोई यूजर Netflix या Amazon Prime का Subscription लेता है तो यह उनके कमाई का एक जरिया बन जाता है। वही कुछ Platform यूजर को सर्विस फ्री में देते है लेकिन कंटेंट के साथ Advertisement भी आते है और यह Advertisement फ्री में सर्विस देने वाले OTT Platform के लिए कमाई का एक जरिया बन जाता है। Read Also: Snippet क्या है? और Featured Snippet क्या है?

OTT Platform पर इतना सारा कंटेंट आता कहां से है?

OTT बहुत सारे मूवी और वीडियो के राइट्स उनके निर्माताओं से खरीदते है। इसके अलावा वह अपने खुद के भी टीवी सीरीज या वीडियो को अलग-अलग डायरेक्टर के साथ मिलकर बनाते है। यूजर को अपनी तरफ आकर्षित करने के लिए यह Platform खुद के प्रोडक्शन हाउस भी बनवाते है और खुद भी काफी सारा कंटेंट बनाते है। 

OTT Platform के फायदे क्या है?

OTT Platforms के ढेर सारे फायदे है, जिसके कारण इनके Subscriber की संख्या भी दिन-ब-दिन काफी बढ़ रही है। 

1. OTT Platforms कंटेंट को हम किसी भी समय देख सकते है। 

अगर आपको कोई मूवी टीवी पर देखनी है तो आप एक फिक्स समय में ही वो मूवी देख सकते है, क्योंकि उसके Broadcast होने का एक टाइम होता है। या आपको उस मूवी को डाउनलोड कर रखना होगा और फिर समय मिलने पर देखना होगा। लेकिन इस Platforms की वजह से आपको जब समय मिले तब कोई भी मूवी देखने की आजादी मिल जाती है। Read Also: Passage Indexing क्या है?

2. OTT Platforms के जरिए बिना Advertisement के कंटेंट देखने को मिलता है। 

जब हम कोई मूवी देख रहे होते है तो बिच-बिच में Advertisement हमें काफी परेशान कर देते है। ऐसे में आप OTT Platforms के जरिए कोई भी कंटेंट बिना Advertisement के देख सकते है। हलाकि इसके लिए आपको इन Platforms का Subscription लेना होता है। लेकिन एक कहावत है ना कुछ पाने के लिए कुछ खोना पड़ता है। 

3. समय की बचत होती है। 

जब हम टीवी पर कोई मूवी देखते है तो हमें कंटेंट से ज्यादा Advertisement देखने को मिलती है। ऐसे में हमारा काफी समय भी चला जाता है क्योंकि मूवी मे कंटेंट से ज्यादा Advertisement होती है। OTT Platforms के जरिए हम बिना Advertisement के काफी कम समय में मूवी या कोई भी कंटेंट को देख पाते है। 

4. जितनी बार चाहे किसी कंटेंट को देख सकते है। 

OTT Platforms पर ऐसा नहीं होता है की आपने किसी  कंटेंट को एक बार देख लिया अब दोबारा नहीं देख सकते, आप जितनी बार चाहे उतनी बार किसी भी कंटेंट को देख सकते है।

5. किसी भी डिवाइस पर कंटेंट देख सकते है। 

टीवी का कंटेंट हम सिर्फ टीवी पर ही देख सकते है। जब की OTT कंटेंट हम अपने मोबाइल, लैपटॉप, कंप्यूटर या स्मार्ट टीवी इन सभी Device पर सकते है। 

6. दुनिया में कहीं भी OTT कंटेंट देख सकते है। 

पुराने टीवी कि तरह कंटेंट हमें टीवी के आगे बैठ कर देखने की जरूरत नहीं है। हम बेडरूम, ऑफिस या सफर करते हुए भी OTT कंटेंट देख सकते है। 

7. कंटेंट को डाउनलोड कर कभी भी देख सकते है। 

हम अपने डिवाइस पर कंटेंट को डाउनलोड कर कंटेंट को बड़ी आसानी से देख सकते है। डाउनलोड कंटेंट को हम वहां भी देख सकते है जहां हमें अच्छे इंटरनेट की सुविधा नहीं मिलती है। जैसे अगर आप हवाई जहाज में सफर कर रहे हो तो वहां आपका OTT कंटेंट आपके बहुत काम आ सकता है। Read Also: Natural Language Processing(NLP) क्या है? In Hindi

8. OTT Platform पर काफी ज्यादा कंटेंट होता है। 

काफी ज्यादा कंटेंट होने की वजह से हम दिल चाहा कंटेंट देख उसका मजा ले सकते है। काफी सारा कंटेंट होने की वजह से हमें अलग-अलग कंटेंट देखने को मिल जाता है। जैसे न्यूज़, स्पोर्ट्स, किड्स, टीवी शो और भी काफी सारा कंटेंट एक ही जगह देख सकते हो। 

OTT Platforms के नुकसान क्या है?

  • कुछ OTT Platforms काफी महँगी सर्विस देते है। 
  • हाई स्पीड इंटरनेट की जरूरत होती है। 
  • इंटरनेट स्पीड अच्छा नहीं है तो अच्छे क्वालिटी में OTT कंटेंट आप नहीं देख पाएंगे। 
  • अलग-अलग OTT Platforms पर अलग-अलग कंटेंट का होना।

ऐसे में हमने अगर किसी एक OTT Platforms का Subscription ले रखा है और उस पर अगर वह कंटेंट नहीं है जो हमें देखना है तो हमें किसी और OTT का Subscription लेना पड़ता है। Read Also: Blog क्या होता है? | Blog क्यों लिखा जाता है? | Blogging क्या होती है?

OTT दुनिया के सबसे तेजी से ग्रो कर रहे सेक्टर में से एक है। हर दिन हजारों कस्टमर अलग-अलग OTT Platforms को Subscribe कर रहे हैं। आज कई लोग अपने नॉर्मल टीवी को छोड़ OTT Platforms पर ही कंटेंट देख रहे हैं। कोरोना के कारण हुए Lockdown ने OTT Platforms को और ज्यादा मजबूती दी और बहुत सारी नई मूवी और टीवी सीरीज OTT Platforms पर ही सीधे रिलीज करी गई। एक चर्चा काफी जोर पकड़ रही है कि क्यों ना सिनेमा हॉल के साथ-साथ सभी फिल्मों को एक साथ OTT पर भी रिलीज किया जाए। 

OTT के बारे में कुछ इंटरेस्टिंग बातें जाने तो NETFLIX अमेरिका के साथ-साथ दुनिया का सबसे बड़ा OTT Platform है। जिसके पूरी दुनिया भर में सबसे ज्यादा Subscriber है और उनमें सबसे ज्यादा अमेरिका से हैं। भारत का सबसे बड़ा OTT Platform Disney Hotstar है और दूसरे नंबर पर Amazon Prime है। दुनिया भर में आज 100 से ज्यादा OTT Platforms चल रहे हैं, जिनमें से 10 से ज्यादा बहुत ज्यादा फेमस है। 

OTT कंटेंट के कितने टाइप है?

OTT कंटेंट के 3 Types है,

  • OTT Television
  • OTT Messaging
  • OTT Voice Calling

1. OTT Television क्या है?

OTT Television को online television or internet television or streaming भी कहा जाता है। जो की OTT Contents में से सबसे popular कंटेंट का टाइप है। OTT Television के signals को भी इंटरनेट के माध्यम से ही यूजर के डिवाइस तक पोहचाया जाता है। OTT Content के इस टाइप में video और audio को stream किया जाता है।

Disney + Hotstar के एक रिकॉर्ड के अनुसार एक ही समय पर सबसे ज्यादा लगभग 18.6 यूजर इस platform पर live streaming कर रहे थे और वह रिकॉर्ड आज भी कायम है।

Sony liv के काफी बेहतर कंटेंट जैसे Scam 1992, Undekhi, Avrodh, Kathmandu Connection देने की वजह से sony liv पर हर महीने लगभग 95 million यूजर stream करते है।

2. OTT Messaging क्या है?

OTT Messaging को instant messaging or online messaging भी कहां जाता है। मोबाइल नेटवर्क ऑपरेटिंग कंपनियां text message की सुविधाएं देती यह platforms उसके alternatives है। जैसे WhatsApp, WeChat, Skype, Telegram यह कंपनियां online messaging को प्रोवाइड करती है जो की instant messaging platform है। गूगल ने खुद का एक instant messaging platform बनाया है जिसका नाम Google Allo है।

3. OTT Voice Calling क्या है?

OTT Voice Calling को VoIP भी कहां जाता है। OTT Voice Calling भी OTT Messaging की तरह एक instant voice calling सर्विस है। जैसे Skype, WhatsApp और WeChat, यह कंपनियां instant voice calling सर्विस को प्रोवाइड करती है।

Top 12 OTT Platforms

  1. Netflix
  2. Amazon Prime Video
  3. Disney+Hotstar
  4. Apple TV+
  5. Hulu
  6. Sony Liv
  7. Zee5
  8. MX Player
  9. ALT Balaji
  10. Eros Now
  11. Arre

Enjoyed the post! Leave a Reply...

This Post Has 2 Comments

  1. Pravesh kumar

    Bahut hi acche tareeke se aapne ott platform ke baare me bataya hai